Unlocking the Secrets of Support and Resistance in Hindi

Unlocking the Secrets of Support and Resistance in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज फिर आपका स्वागत है हमारे ब्लॉग Trading Analysis में आज इस लेख में हम बात करेंगे Support और Resistance के बारे में….

क्या आपने कभी सोचा है कि क्यों किसी शेयर का प्राइस एक प्वाइंट पर आकर नीचे गिरने लगता है या फिर एक प्वाइंट तक नीचे आने के बाद दोबारा से ऊपर उठने लगता है Bounce Back कर जाता है इसका क्या कारण है कभी सोचा है …?

देखिए ये सारा खेल टिका है दो चीजों पर Demand And Supply

1.Demand मतलब (मांग)
2.Supply मतलब (आपूर्ति)

देखिए Technical Analysis करते समय लोग कई अलग अलग मेथड्स फॉलो करते हैं कुछ लोग Charts पर Candlestick Pattern देख कर Analysis करते हैं तो कुछ लोग Chart Patterns को फॉलो करते हैं तो वहीं कुछ लोग Support और Resistance के base पर ट्रेडिंग करके Profit कमाते हैं ।

अब Support और Resistance होता क्या है ? क्या ये Trading को Profitable बनाने में सक्षम है ? क्या इसे ध्यान में रख कर प्रॉफिट बनाया जा सकता है ? ऐसे तमाम सवालों के जवाब और आपकी Support Resestance से जुड़ी सभी शंकाओं का समाधान करने की कोशिश करेंगे ।

सब कुछ इस लेख में विस्तार से जानेंगे लेकिन उससे पहले आपको एक वादा करना होगा अरे डरिए मत पैसे नहीं मांगने वाला ना कोई ऐसा वादा लेने वाला जिसे करने में आपको परेशानी हो बस आपको एक छोटा सा काम करना है इस लेख को पढ़ने के बाद उन लोगों के साथ शेयर करना है जो ट्रेडिंग कर रहे हैं या शुरू करना चाहते हैं ताकि आपके साथ साथ उन लोगों की भी मदद हो सके और ये तो आपने सुना ही होगा ज्ञान को बांटने से ज्ञान बढ़ता है तो कर दो दबा के SHARE।।

Support क्या है ?

Support और Resistance ट्रेडिंग में महत्वपूर्ण Price Levels होते हैं। जो हमें Price किस Direction में Move होगा इसकी जानकारी देते हैं

Support Level एक Price Level होता है जहां पे बाजार में खरीदारी का Pressure होता है और कीमत कम हो जाती है। इस लेवल पर traders को उम्मीद होती है कि कीमत कम होकर वापस ऊपर जाएगी।

Resistance क्या है ?

Resistance level एक Price level होता है जहां पे बाजार में बिक्री का Pressure होता है और कीमत बढ़ जाती है। इस स्तर पर Traders को उम्मीद होती है कि कीमत बढ़कर वापस नीचे जाएगी।

Support और Resistance level को Traders Potential Entry और Exit Level या Points की पहचान करने के लिए उपयोग करते हैं।

अगर कीमत Support Level तक पहुंचती है, तो व्यापारियों को उम्मीद होती है कि कीमत वापस ऊपर जाएगी, इसलिए वह खरीदारी कर लेते हैं। अगर कीमत Resistance level तक पहुंच गई है, तो व्यापारियों को उम्मीद होती है कि कीमत वापस नीचे जाएगी, इसलिए वह बेच देते हैं।

Support और Resistance level Market Psychology और Supply- demand dynamics पर आधारित होते हैं।

जब Price Support Level या Resistance levels तक पहुंच जाता है, तो वहां पर व्यापारियों का behaviour Change हो जाता है, और ये levels और भी Strong बन जाते हैं।

You May Like : 5 Powerful Candlestick Pattern

लेकिन याद रहे, Support और Resistance level कभी-कभी टूट सकते हैं और Price Unexpected Direction में move कर सकता है। इसलिए, एक उचित Risk Management Strategy का उपयोग करना ट्रेडिंग में हमेशा महत्वपूर्ण होता है।

तो ये था Support और Resestance के बारे में छोटा सा लेख और अगर आसानी से आम भाषा में बोलूं तो Support वो होता है जहां से Price बार बार ऊपर चला जाता है नीचे नहीं आता ठीक उसी तरह Resistance को समझा जाए तो Resistance वो है जहां से Price और ऊपर नहीं जा पाता और बार बार नीचे आने लगता है।

तो कैसा लगा आपको ये छोटा सा लेख अगर पसंद आया है तो ज्यादा से ज्यादा अपने ट्रेडर्स भाइयों के साथ शेयर करें और अपनी राय कॉमेंट में जरूर लिखें आगे किस टॉपिक पर लेख चाहते हैं ये भी बताएं तब तक मुझे दीजिए इजाजत मिलता हूं फिर किसी नए लेख में नए जज्बे के साथ आपका दिल से बहुत बहुत धन्यवाद।।

6 thoughts on “Unlocking the Secrets of Support and Resistance in Hindi”

Leave a Comment