Unlocking the Secrets of RSI: Boost Your Trading Success!

नमस्कार दोस्तों एक बार फिर से आपका स्वागत है हमारे ब्लॉग Trading Analysis में आज का टॉपिक काफ़ी Intresting है और मेरे Favourite Topics में से एक है क्योंकि आज हम बात करने वाले हैं एक ऐसे Indicator के बारे में जो Traders का Favourite Indicator है और उसका नाम है RSI Means Relative Strength Index तो चलिए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं

What Is RSI ? Relative Strength Index क्या है ?

Share Market सुबह 9:15 Am से शुरू होता है और 3:30 Pm तक चलता है और इस दौरान निरंतर शेयर्स के Price में उतार चढाव होता रहता है और इसके चलते ट्रेडर के लिए ये जानना बहुत मुश्किल हो जाता है कि वह किस तरह की Position से ज्यादा Profit कमा सकता है इसी समस्या को बहुत ही आसानी से सुलझाने का काम करता है RSI

RSI, यानी Relative Strength Index एक Technical Analysis Tool है जो Stock Market में Trading या फिर Investing के दौरान उपयोग किया जाता है। इसका उपयोग करके Traders और Investors स्टॉक के मूल्य परिवर्तन का विश्लेषण करते हैं।

RSI 0 से 100 तक का स्केल होता है और overbought (70 के ऊपर) और Oversold (30 के नीचे) लेवल की पहचान करता है। जब RSI 70 के ऊपर है, तब बाजार में अधिक खरीदारी की स्थिति होती है, जहां कीमत में गिरावट की संभावना होती है। जब RSI 30 के नीचे है, तब बाजार में ओवरसोल्ड स्थिति होती है, जहां कीमत बढ़ने की संभावना होती है।

RSI कैसे काम करता है ?

RSI को कैलकुलेट करने के लिए, कीमत में ऊपर और नीचे होने वाले लाभ और हानि का उपयोग होता है। RSI के अलावा भी और तकनीकी संकेतक होते हैं, जैसे कि Moving Average और moving average conversion diversion (MACD) , जो ट्रेडर्स को बाजार के रुझान और Price Action को समझने में मदद करते हैं।

टेक्निकल एनालिसिस के लिए आप RSI का इस्तेमाल आप अलग-अलग तरह से कर सकते है । जैसे की आप ट्रेंड किस Direction में Move कर रहा है और किस Direction में आगे जा सकता है इसके बारे में RSI आपको बहुत ही सरलता के साथ बता देता है। अब इसकी मदद एक Trader कैसे आसानी से एक सही पोजीशन लेकर प्रॉफिट कमा सकता है इस पर बात करते हैं

RSI का कैसे करें उपयोग/ Use Of RSI

अगर किसी RSI की वैल्यू 70 या उससे अधिक है तो माना जाता है की मार्केट में Buyers की संख्या Sellers से ज़्यादा है। (overbought condition) जो आने वाले Downtrend का संकेत देता है और दूसरी तरफ अगर स्टॉक का प्राइस 30 या उससे कम है तो स्टॉक ओवरसोल्ड है, यानी Sellers की संख्या मार्केट के अंदर ज़्यादा है ऐसा प्रतीत होता है, इससे स्टॉक की कीमत बढ़ने के आसार होते है। क्योंकि RSI Indicator आने वाले ट्रेंड की जानकारी पहले से ही प्रदान करता है इसलिए इसे लीडिंग इंडिकेटर भी कहा जाता है।

साथ ही आप इस इंडिकेटर से ट्रेंड की जानकारी ले सकते है। जानना चाहते है कैसे? RSI इंडिकेटर की रेंज ज़्यादातर ट्रेडर 70- 30 के बीच की रखते है अब जब भी आपने RSI Indicator को इस्तेमाल किया होगा तो तो आप देखते हैं कि एक लाइन है जो 50 पर बनी हुई है दरसल ये लाइन RSI को Indicate करती है अच्छा ये सब क्या है और कैसे काम करता है चलिए सब जानते हैं…

देखिए दरसल 50 पर बनी हुई जो लाइन है वो मध्यस्थता का काम करती है उसके ऊपर एक Standard Point 70 पर माना जाता है और ठीक उसी प्रकार उसके नीचे 30 को माना जाता है ।

You May Like: Unlocking the Secrets of Support and Resistance in Hindi

अब जब कभी ऐसी स्थिति बनती है जब ग्राफ पर बनने वाली लाइन 70 वाले प्वाइंट को टच करती है तो उस स्थिति में Downtrend आने की संभावना बताई जाती है और यही लाइन जब नीचे आकर 50 अर्थात् मध्यस्थ रेखा को टच करती है तो इस संभावना को Confirm मान लिया जाता है । ठीक उसी प्रकार जब ग्राफ पर बनी हुई लाइन 30 को टच करती है तो Uptrend की संभावना जताई जाती है और यही लाइन जब आगे नीचे से ऊपर की ओर बढ़कर 50 को टच कर लेती है तो Position को Confirm माना जाता है । जिसे आप ऊपर चित्र के माध्यम से देख सकते हैं

देखिए RSI Indicator को लोग अपनी सहजता और सुविधा के अनुसार अलग अलग सेटिंग करके USE करते हैं । अगर आप भी उन सेटिंग्स के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो आप हमें Comment करके बता सकते हैं इस पर हम एक अलग से लेख प्रकाशित कर देंगे ।

इसे Traders Trend Reversal और Price Action को समझने में मदद मिलती है। लेकिन याद रखें, RSI एक टूल है और इसका इस्तमाल करने से पहले दूसरे संकेतक और बाजार का overall analysis भी करना जरूरी है। आशा है आपको हमारा ये लेख पसंद आएगा और आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित होगा है अगर पसंद आया है तो लाइक जरुर करें और Comment में अपनी राय जरूर दें लेख को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद

1 thought on “Unlocking the Secrets of RSI: Boost Your Trading Success!”

Leave a Comment